केजरीवाल की पीएम से मांग, डॉक्टरों को दिया जाए भारत रत्न

दिल्ली: कोरोना महामारी के दौरान अपनी जान की बाजी लगाकर दिन रात मेहनत करने वाले डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न की मांग की है। उन्होंने कहा कि यह उन डॉक्टरों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी, जिन्होंने कोरोना से जंग के दौरान अपनी जान गंवाई। इसके लिए केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर अपनी मांग से अवगत कराया है।

इसे लेकर रविवार को केजरीवाल ने ट्वीट किया कि इस वर्ष 'भारतीय डॉक्टर' को भारत रत्न मिलना चाहिए। 'भारतीय डॉक्टर' मतलब सभी डॉक्टर, नर्स और पैरामेडिक। शहीद हुए डाक्टर्स को ये सच्ची श्रद्धांजली होगी। अपनी जान और परिवार की चिंता किए बिना सेवा करने वालों का ये सम्मान होगा। पूरा देश इससे खुश होगा।

मालूम हो कि भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) द्वारा मध्य जून में मुहैया कराए गए आंकड़ों के मुताबिक कुल 730 चिकित्सकों की जान कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान गई है। बिहार में सबसे अधिक 115 चिकित्सकों की कोविड-19 से मौत हुई है जबकि दिल्ली में 109, उत्तर प्रदेश में 79, पश्चिम बंगाल में 62, राजस्थान में 43, झारखंड में 39 और आंध्र प्रदेश में 38 चिकित्सकों ने महामारी से जान गंवाई है। आईएमए के मुताबिक देश में कोविड-19 महामारी की पहली लहर के दौरान 748 चिकित्सकों की मौत हुई थी।