विभागाध्यक्ष का घेराव, स्वयं के अनुरोध पर तबादले पर सहमति

सिंचाई विभाग के संगठनों के साथ विभागाध्यक्ष की बैठक

लखनऊ। सिंचाई विभाग के सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने तबादले के मामले में आज विभागाध्यक्ष का घेराव कर जमकर नारेबाजी करते हुए जनहित के नाम पर मनमाने तबादले न किये जाने की मांग रखी। घेराव और कर्मचारियों की नाराजगी देखते हुए विभागाध्यक्ष सहित प्रमुख अभियंताओं की बैठक सभी संवर्ग के कर्मचारियों नेताओं की एक बैठक की गई। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि कर्मचारियों को उनके स्वंय के अनुरोध पर स्थान्तरित किया जाएगा। जनहित में किसी भी कर्मचारी का स्थानांतरण नहीं किया जाए कोरोना के कारण इस पर भी सहमति बनी। इसके साथ पदोन्नत होने वाले कार्मिकों को उसी जनपद या खण्ड में रिक्त स्थान पर तैनाती दी जाएगी। अभय शुक्ला महासचिव सिंचाई विभाग ड्राइंग स्टाफ एसोसिएशन ने बताया कि धरने और घेराव के उपरान्त बैठक में प्रमुख अभियंता विकास, विभागाध्यक्ष इं. वी.के. निरंजन, प्रमुख अभियंता परिकल्प नियोजन इं. ए.के. सिंह, प्रमुख परियोजना,सिंचाई जल संसाधन इं. मुस्ताक अहमद एवं संगठन की तरफ से प्रशांत कुमार त्रिपाठी ,जल लेखा संघ, सिंचाई विभाग ड्राईग स्टाफ एसोसिएशन के अमित यादव, अभय शुक्ला, मिनिस्टीरियल एसोसिएशन की तरफ से कृतार्थ सिंह, राजेश सिंह, माधुर देवी, योगेश वर्मा, राजेा सिंह, गोवर्धन सिंह, एन.के.शुक्ला, पवन कुमार गौतम आदि मौजूद थे। बैठक में हुए निर्णय के उपरान्त समस्त कर्मचारी अपनी सीटों पर पहुचें और नियमानुसार कार्य शुरू किया। संगठनों की तरफ से यह भी कहा गया कि यदि संघ की तीन प्रमुख मांगे नहीं मानी जाएंगी तो धरना पुनः चालू रहेगा।