तालकटोरा में पीसीएस अधिकारी की पत्नी की भतीजे ने कर दी हत्या

हत्यारे ने खुद भी लगाई फांसी नहीं पता चल सका हत्या का कारण

लखनऊ। लखनऊ कमिश्नरेट के पश्चिम जोन के तालकटोरा थाना क्षेत्र अंतर्गत राजाजीपुरम में रहने वाले पीसीएस अधिकारी की 43 वर्षीय पत्नी की उनके सगे भतीजे ने बाथरूम में गला दबाकर हत्या करने के बाद खुद भी कमरे की छत में लगे पंखे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सगी चाची के हत्यारे ने हत्या जैसी जघन्य वारदात को अंजाम देकर खुद फांसी क्यों लगाई यह राज अभी राज ही बना हुआ है। सूचना पाकर पहुंची तालकटोरा पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एडीसीपी पश्चिम का कहना है कि हत्या और आत्महत्या के कारणों का पता अभी नहीं चल सका है उन्होंने बताया कि आत्महत्या करने वाला भतीजा डिप्रेशन में बताया जा रहा है जांच जारी है। जानकारी के अनुसार इलाहाबाद में टैक्स विभाग में मैनेजर की पोस्ट पर तैनात पीसीएस अधिकारी घनश्याम वर्मा अपनी पत्नी अनीता वर्मा और दो बेटों के साथ तालकटोरा थाना क्षेत्र के राजाजीपुरम ई ब्लॉक में मकान नंबर 1532 में रहते हैं। पीसीएस अधिकारी घनश्याम वर्मा के साथ उनका सगा भतीजा अजीत वर्मा भी रहता था। अजीत ने बीती रात घर के बाथरूम में अपनी 43 वर्षीय चाची अनीता वर्मा की गला दबाकर उस समय हत्या कर दी जब अनीता वर्मा के दोनों बेटे घर में मौजूद नहीं थे। चाची अनीता वर्मा की हत्या करने के बाद चाची के हत्यारे अजीत वर्मा ने खुद भी घर के कमरे की छत में लगे पंखे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतिका के बच्चे जब घर लौटे तो घर में मां और अजीत वर्मा की लाशें देख कर घबरा गए। सूचना तालकटोरा पुलिस को दी गई तो पुलिस मौके पर पहुंची और मौका ए वारदात पर मिले सबूतों को अपने कब्जे में लेने के बाद दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एडिशनल डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि अजीत वर्मा के द्वारा अपनी सगी चाची अनीता वर्मा की बाथरूम में गला दबाकर रात के समय हत्या करने के बाद खुद भी फांसी लगा ली गई। उन्होंने बताया कि यह बताया जा रहा है कि चाची का हत्यारा भतीजा डिप्रेशन में था। इंस्पेक्टर तालकटोरा धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि जांच में पता चला है कि अनीता वर्मा की हत्या करने वाला उनका भतीजा अजीत वर्मा बेरोजगार था और बेरोजगारी की वजह से वह डिप्रेशन में रहता था उन्होंने बताया कि हत्या के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है जांच जारी है। भले ही पुलिस हत्या और आत्महत्या के कारणों तक अभी नही पहुची हो लेकिन लोगो का कहना था कि चाची और भतीजे के बीच कुछ विवाद चल रहा था हालांकि घरेलू विवाद में भतीजा अपनी चाची की जान का दुश्मन बन जाएगा इसका अनुमान भी शायद किसी ने नही लगाया होगा। इस घटना के बाद ये भी सवाल लोगो को परेशान कर रहा है कि अजीत ने अनीता वर्मा की हत्या के बाद खुद की जिंदगी क्यों खत्म की। सवाल कई है जिसका जवाब तो पुलिस की जांच में ही निकल कर आएगा।