यशपाल शर्मा के निधन पर सचिन, सहवाग समेत कई दिग्गजों ने जताया शोक

साल 1983 में भारतीय टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 66 साल के थे। महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर समेत कई क्रिकेटरों ने शर्मा के निधन पर शेाक व्यक्त किया है। यशपाल 1983 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के हीरो रहे थे। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 120 गेंदों पर 89 रन की शानदार पारी खेली थी। भारतीय टीम एक समय 76 रन तक अपने तीन विकेट गंवा चुका था और उस समय उन्होंने मैदान पर कदम रखा था। लेकिन उन्होंने अपनी शानदार पारी से भारतीय टीम को सम्मानजक स्कोर तक पहुंचाया था। इसके अलावा उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए 40 और फिर इंग्लैंड के खिलाफ मुश्किल हालात में 61 रन की पारी खेली थी। उन्होंने उस टूर्नामेंट में 240 रन बनाए थे और भारत वर्ल्ड चैम्पियन बनने में सफल रहा था। 

तेंदुलकर ने ट्विटर पर लिखा, ' यशपाल शर्मा जी के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं और साथ ही गहरा दुख भी हुआ। 1983 विश्व कप के दौरान उन्हें बल्लेबाजी करते हुए देखने की यादें अभी भी ताजा हैं। भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं।' 

यशपाल ने भारत की ओर से कुल 37 टेस्ट और 42 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उन्होंने टेस्ट में 1606 और वनडे में 883 रन बनाए हैं। यशपाल ने 2 अगस्त 1979 को क्रिकेट का मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान से अपने इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत की थी। उन्होंने टेस्ट में 37.45 की औसत से जबकि वनडे में 28.48 की औसत से रन बनाए हैं। 

यशपाल ने 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ सियालकोट में वनडे में डेब्यू किया था। उन्होंने इसके अलावा रणजी में, हरियाणा और रेलवे सहित तीन टीमों का प्रतिनिधित्व किया था। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई), पंजाब और हरियाणा क्रिकेट के साथ विभिन्न भूमिकाओं में शामिल थे। इसके अलावा उन्होंने 160 फर्स्ट क्लास मैच भी खेले हैं, जिसमें उनके नाम 8933 रन हैं। वहीं, लिस्ट ए में उनके नाम 74 मैचों में 1859 रन दर्ज हैं। फर्स्ट क्लास मैच में उनके नाम एक दोहरा शतक दर्ज हैं।

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज ​वीरेंद्र सहवाग ने लिखा, 'यशपाल शर्मा पाजी के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ। वह हमारे 1983 विश्व कप जीतने वाली टीम के हीरो थे। उनके निधन मेरी शोक संवदेनाएं। ॐ शांति।' उनके अलावा सुरेश रैना, अनुराग ठाकुर, वेंकटेश्वर प्रसाद और जय शाह ने भी यशपाल के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।