कोरोना से होने वाली मौत से 98 फीसदी तक सुरक्षा दे सकती है वैक्सीन

नई दिल्ली: कोरोना से होने वाली मौत से वैक्सीन 98 फीसदी तक सुरक्षा दे सकती है. केंद्र सरकार ने पंजाब में पुलिसकर्मियों पर की गई स्टडी का हवाला देते हुए कहा कि कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराक बीमारी से होने वाली मौत से लगभग 98 प्रतिशत सुरक्षा प्रदान करती हैं. कोविड वैक्सीन की एक खुराक बीमारी से लगभग 92 प्रतिशत तक की सुरक्षा प्रदान करती है. कोविड वैक्सीन पर यह स्टडी पंजाब सरकार के सहयोग से पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च चंडीगढ़ (PGI) द्वारा किया गया है.

अध्ययन के आंकड़ों को साझा करते हुए, NITI Aayog के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा कि 4,868 पुलिसकर्मियों को टीका नहीं लगाया गया था और उनमें से 15 की मौत कोरोनावायरस संक्रमण के कारण हुई, जो प्रति हजार 3.08 है.

35,856 पुलिसकर्मियों में से कोविड टीके की एक खुराक दी गई थी, जिनमें से 9 की मौत हो गई, जो कि 0.25 प्रति हजार है. उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कुल 42,720 पुलिसकर्मियों को टीके की दोनों खुराकें मिलीं और उनमें से दो की ही मौत हुई, जो कि प्रति हजार 0.05 फीसद है.

वीके पॉल ने कहा, "पुलिसकर्मी उच्च जोखिम वाले समूह में आते हैं. इन संख्याओं से, हमें पता चलता है कि कोविड टीके की एक खुराक बीमारी से मौत के पर्ति 92 प्रतिशत सुरक्षा प्रदान करती है जबकि दोनों खुराक 98 प्रतिशत सुरक्षा प्रदान करती है." उन्होंने कहा, "इस तरह की स्टडी और उनके नतीजे दर्शाते हैं कि टीकाकरण गंभीर बीमारी और मौत के खतरे को खत्म करता है. इसलिए टीकों में विश्वास रखें क्योंकि वे प्रभावी हैं और टीकों को अपनाया जाना चाहिए."