छोटे राज्‍यों में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद केंद्र सरकार ने 6 राज्‍यों में भेजीं विशेष टीमें

नई दिल्ली: देश में कोरोना के मामलों की संख्‍या कम जरूर हुई है लेकिन केंद्र सरकार को भी ढिलाई नहीं बरत रही है. हाल के समय में छोटे राज्‍यों, खासकर पूर्वोत्‍त्‍तर के राज्‍यों में कोरोना के नए केसों की संख्‍या में इजाफे के बाद केंद्र सरकार ने छह राज्‍यों में टीमें भेजी हैं. कोविड-19 पर नियंत्रण और रोकथाम के उपयोगों के तहत छह राज्‍यों में ये टीमें भेजी गई हैं, उनमें अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा, मणिपुर, ओडिशा, केरल और छत्‍तीसगढ़ शामिल हैं. राज्‍यों में भेजी जाने वाले  उच्‍च स्‍तरीय टीम में एक क्‍लीनिशियन और एक लोक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ शामिल होगा. जानकारी के अनुसार, टीम वहां कोविड-19 मैनेंजमेंट, निगरानी, कंटेनमेंट ऑपरेशसंस और टेस्टिंग जैसे काम को देखेंगी. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, केंद्रीय टीम इन राज्‍यों में कोविड की स्थिति का मूल्‍यांकन करेंगी और जरूरी उपाय सुझाएंगी.

गौरतलब है कि अरुणाचल प्रदेश में एक जुलाई को पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 286 नए मामले सामने आए थे, इसके बाद राज्‍य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 36 हजार (35,857) के करीब पहुंच गई है. राज्य के निगरानी अधिकारी (एसएसओ) डॉ. एल जाम्पा ने गुरुवार को बताया था कि बताया कि पिछले 24 घंटे में संक्रमण से चार लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या 172 हो गई. राज्य में अभी 2,762 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है.

उन्होंने बताया कि कोविड-19 के नए मामलों में से कैपिटल कॉम्प्लैक्स क्षेत्र में सर्वाधिक 71, अपर सुबनसिरी में 29, लोअर दिबांग वैली तथा लोहित में 20-20 नए मामले सामने आए. राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर 91.82 प्रतिशत है. राज्य में अभी तक 7.65 लाख से अधिक नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है.