दिल्ली की पहली स्किल युनिवर्सिटी में 6000 सीटों के लिए आवेदन शुरू

DSEU Admission 2021: दिल्ली सरकार द्वारा स्थापित दिल्ली स्किल एंड एंटरप्रिन्योरशिप यूनिवर्सिटी (डीएसईयू) में 11 कौशल आधारित स्नातक कोर्स, डिप्लोमा और डिग्री कोर्स के 6 हजार सीटों के लिए आज से आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी। विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.निहारिका वोहरा ने एक ऑनलाइन प्रेस वार्ता कर विश्वविद्यालय की दाखिला प्रक्रिया और कोर्स की जानकारी देते हुए कहा कि यह कोस बाजार की मांग को ध्यान में रखकर तैयार किए गए हैं। डीएसईयू के 13 कैम्पसों में 15 डिप्लोमा,18 स्नातक और 2 पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स के लिए आवेदन किया जाएगा।

विश्वविद्यालय द्वारा लांच किए गए नए पाठ्यक्रमों ई-कॉमर्स संचालन, डेटा विश्लेषण, डिजिटल डिजाइन एंड मीडिया, फैसिलिटीज एंड हाइजीन मैनेजमेंट, मेडिकल लैबोरेटरी टेक्नोलॉजी आदि के बारे में बताते हुए कुलपति ने कहा कि डीएसईयू एंटरप्रिन्योरशिप और एंटरप्रिन्योर को बढ़ावा देता है। इसलिए हमारे सभी डिग्री और डिप्लोमा पाठ्यक्रम इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं, ताकि हमारे सभी विद्यार्थी इंडस्ट्री से रोजगार और वास्तविक जीवन के कौशलों को सीख सकें। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि विद्यार्थी इंडस्ट्रीज में अपना करियर बनाएं। इसके लिए ज़रूरी है कि पहले विद्यार्थी अपनी रुचि का पता लगाएं और उसके बाद ही एडमिशन लें। ताकि वे बाद में स्वयं को किसी ऐसे व्यवसाय में फंसा न पाएं, जो उनकी रुचि के आधार पर नहीं था।

डीएसईयू के दिल्ली में स्थित 13 कैंपस में 15 डिप्लोमा प्रोग्राम, 18 अंडरग्रेजुएट कोर्स (11 फ्लैगशिप कोर्स,बीसीए व 6 बी.टेक पाठ्यक्रम) व 2 पोस्ट-ग्रेजुएट कोर्स के लिए एडमिशन दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त बी.टेक को छोड़ कर अन्य अंडरग्रेजुएट कोर्सों में एडमिशन लेने वाले अभ्यर्थियों को एक इंटरेस्ट प्रोफाइलिंग टेस्ट- पीईजीटीएम (पर्सनालिटी, एंटरप्रेन्यूरियल माइंडसेट एंड जनरल एबिलिटी टेस्ट) देना होगा, ताकि विद्यार्थी उस कोर्स को चुन सकें, जिसके लिए वे सबसे ज़्यादा उपयुक्त हैं। विश्वविद्याल के सभी डिप्लोमा और अन्य कोर्स को अकादमिक और इंड्रस्टी के विशेषज्ञों द्वारा डिज़ाइन किया गया है। ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी कोर्स बाजार की मांग को पूरा करने में समर्थ हों। इसलिए सभी कोर्स में लाइफ स्किल्स और रोजगार प्राप्ति के लिए अनुभवात्मक शिक्षा पर ज़्यादा ज़ोर दिया गया है। डीएसईयू के सभी कोर्सेज में विद्यार्थियों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2019 के तहत मल्टीपल एंट्री एग्जिट का विकल्प भी दिया गया है।

जरूरतमंद छात्रों को दी जाएगी छात्रवृत्ति

डीएसईयू, उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली सरकार की योजनाओं से छात्रवृत्ति, वित्तीय सहायता और अन्य सहायता के माध्यम से सभी योग्य विद्यार्थियों को मदद भी करेगा। डीएसईयू की स्थापना अगस्त 2020 में दिल्ली सरकार द्वारा एप्लाइड साइंस और स्किल एजुकेशन में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए की गई है।

13 कैंपस में होगी पढ़ाई

वजीरपुर, महारानी बाग, द्वारका, विवेक विहार, सिरी फोर्ट, शकरपुर, अशोक विहार,रजोकरी, रोहिणी, ओखला-1,ओखला-2, पीतमपुरा, पूसा

ये है हेल्पलाइन नंबर

विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। कोविड-19 से उपजी स्थिति को देखते हुए आवेदन पूरी तरह से ऑनलाइन होगा। यह ऑनलाइन केंद्रीयकृत आवेदन पोर्टल के माध्मय से होगा। इसके लिए छात्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट देख सकते हैं। छात्रों को आवेदन में किसी तरह की दिक्कत आती है तो छात्र विश्वविद्यालय की हेल्पलाइन नंबर 18003093209 पर कॉल कर सकते हैं इसके अलावा यदि उनको किसी तरह की कोई तकनीकी दिक्कत आ रही है तो वह इस नंबर 01141169950 पर कॉल कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त यूनिवर्सिटी के सभी इंस्टिट्यूट में एडमिशन कॉउंसलिंग रूम व वर्चुअल वॉक-इन हेल्प डेस्क की शुरुआत भी की गई है।

ये फीस

डिप्लोमा के लिए 15-18 हजार

डिग्री कोर्स के लिए - 30-60 हजार