पंजाब : भाखड़ा जलाशय में 56.9 फुट घटा जलस्तर, बिजली उत्पादन पर पड़ा प्रभाव

पंजाब : भीषण गर्मी के बीच भाखड़ा जलाशय के जलस्तर में 56.9 फुट की गिरावट आई है। 2020 में इसका स्तर 1581.50 फुट था, जो इस साल 1524.60 फुट पहुंच गया है। जलस्तर गिरने से बिजली उत्पादन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। जलाशय से पंजाब को 194 लाख यूनिट बिजली की आपूर्ति की जाती है। 

पंजाब में धान की रोपाई और भीषण गर्मी के बीच बिजली की मांग में जबरदस्त इजाफा हुआ है। राज्य में 13821 मेगावाट से अधिक बिजली की मांग पहुंच गई है, जबकि पंजाब के पास अभी सिर्फ 12800 मेगावाट बिजली की व्यवस्था है। लगभग 1000 मेगावाट की हर रोज कमी हो रही है। इसके लिए पंजाब राज्य बिजली निगम लिमिटेड (पीएसपीसीएल) हर रोज कट लगा रहा है। 

बिजली के संकट से उबरने के लिए पीएसपीसीएल के सीएमडी ए. वेणु प्रसाद ने भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) को पत्र लिखकर बिजली उत्पादन बढ़ाने का अनुरोध किया था लेकिन जलाशय का पिछले साल के मुकाबले स्तर घटने के कारण बिजली उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। 

बिजली संकट से उबरने के लिए पीएसपीसीएल पंजाब में हर रोज 12 करोड़ रुपये से 1000 मेगावाट की बिजली खरीद रहा है। पंजाब सरकार ने किसानों को सुचारु बिजली आपूर्ति के लिए पीएसपीसीएल को 300 करोड़ रुपये जारी किए हैं। धान की रोपाई सीजन में किसानों को पीएसपीसीएल की ओर से लगभग 10 घंटे की बिजली आपूर्ति की जा रही है। भाखड़ा परियोजना कुल 1379 मेगावाट विद्युत का उत्पादन करती है।