एचडीएफसी बैंक ने वित्तवर्ष 2020-21 में सीएसआर के लिए 634.91 करोड़ रु. खर्च किए

लखनऊ। एचडीएफसी बैंक ने अपने कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी अभियानों के लिए अपने अम्ब्रेला प्रोग्राम, परिवर्तन के तहत वित्तवर्ष 2020-21 में 634.91 करोड़ रु. खर्च किए। 634.9 करोड़ रु. में से 110 करोड़ रु. से ज्यादा कोविड-19 राहत पर केंद्रित अभियानों के लिए आवंटित व इस्तेमाल किए गए। इसके अलावा बैंक के ‘परिवर्तन’ ने भारत में 8.5 करोड़ से ज्यादा लोगों को लाभान्वित किया। पिछले वित्तसाल 634.91 करोड़ रु. के खर्च के साथ यह बैंक देश में सीएसआर में सबसे बड़े योगदानदाताओं में से एक है।

 21 राज्यों के 1,970 गांवों में होलिस्टिक रूरल डेवलपमेंट प्रोग्राम (एचआरडीपी)। एनजीओ पार्टनर्स के सहयोग से टीचिंग द टीचर्स (3टी) अभियान के तहत, बैंक ने 19.67 लाख से ज्यादा टीचर्स को प्रशिक्षित किया है, जिससे 2.07 करोड़ से ज्यादा विद्यार्थियों को लाभ मिला। परिवर्तन सस्टेनेबल लिवलिहुड इनिशिएटिव (एसएलआई) के तहत 28 राज्यों के 544 जिलों में 1.29 करोड़ घरों के लोगों के जीवन को स्पर्श कर चुका है। एचडीएफसी बैंक के वॉश प्रोग्राम के तहत 23,500 से ज्यादा टॉयलेट्स बनाए, 1800 से ज्यादा सैनिटेशन अभियान चलाए, 1.18 लाख से अधिक स्वास्थ्य शिविर आयोजित किए। 

वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम में 18.84 लाख से ज्यादा वित्तीय साक्षरता शिविरों द्वारा 1.42 करोड़ से अधिक हितग्राही संलग्न हुए। एचडीएफसी बैंक ने वित्तवर्ष32 तक कार्बन न्यूट्रल बनने का संकल्प लिया,बैंक का उद्देश्य उत्सर्जन, ऊर्जा एवं पानी के उपभोग में कटौती करना है। बैंकिंग के कार्यों में अक्षय ऊर्जा के इस्तेमाल का समावेश कर उसे बढ़ाना। हरित उत्पादों के लिए अलग ब्याज दरों पर ऋण प्रस्तुत करना।क्रेडिट का निर्णय लेने में ईएसजी स्कोर का समावेश करना। मिस आशिमा भट, ग्रुप हेड बिजनेस फाइनेंस, स्ट्रेट्जी, एडमिनिस्ट्रेशन, इन्फ्रास्ट्रक्चर, ईएसजी एवं सीएसआर, एचडीएफसी बैंक ने कहा, ‘‘भारत के सबसे बड़े प्राईवेट बैंक होने के नाते हम इस मुश्किल साल लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए तत्पर हैं।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘एचडीएफसी बैंक दीर्घकालिक सतत अभियानों पर केंद्रित है, जो अल्पकालिक लाभ की जगह समस्या की जड़ का समाधान करते हैं। इस साल कोविड-19 के कारण अनेक तरह के प्रतिबंध रहे, लेकिन एचडीएफसी बैंक, इसके एनजीओ पार्टनर्स ने इन अभियानों व प्रोजेक्ट के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की। मैं इस अवसर पर उनकी प्रतिबद्धता के लिए उनकी सराहना करती हूँ।

 नए वित्तवर्ष में हम नए उत्साह के साथ काम करते रहेंगे। बैंक के सामाजिक अभियान संयुक्त राष्ट्र के सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स के अनुरूप हैं। सस्टेनेबिलिटी एवं सामाजिक परिवर्तन के लिए बैंक के प्रयास यूएन द्वारा बताए गए एसडीजी के अनुसार हैं। इंटीग्रेटेड वार्षिक रिपोर्ट में सस्टेनेबिलिटी के तत्व गरीबी कम करने, जीरो हंगर प्राप्त करने, स्वच्छ पानी व सफाई प्रदान करने, गुणवत्तायुक्त शिक्षा के लिए तथा सस्टेनेबल शहर एवं समुदायों का निर्माण करने के लिए लोगों को संलग्न कर बैंक द्वारा किए गए काम की रूपरेखा देते हैं।