फिल्म सेंसरशिप के कानून में बदलाव के खिलाफ हैं फरहान अख्तर, अनुराग कश्यप सहित 1400 सेलेब्स

सेंसर बोर्ड के नियमों में कुछ बदलाव होने वाले हैं। हालांकि बॉलीवुड इंडस्ट्री इसके विरोध में है। दरअसल, जो नया नियम लागू करने की बात हो रही है उसके मुताबिक जो फिल्म पहले से सेंसर सर्टिफिकेशन होने के बाद रिलीज हुई है अगर उसके खिलाफ शिकायत होती है तो फिर से सेंसर उसे देखेगा। इस नियम के खिलाफ कई प्रोड्यूसर्स ने विरोध करते हुए याचिका दायर की है। सरकार ने सिनेमेटोग्राफ बिल, 2021 का ड्राफ्ट सार्वजनिक किया है। इस पर 2 जुलाई तक सुझाव मांगे गए हैं, लेकिन कुछ फिल्म मेकर्स का कहना है कि हम सरकार से और समय मांगेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में विवेक अग्निहोत्री का कहना है कि सरकार ने सुझाव मांगे हैं तो हमें देना चाहिए। ये तो अच्छा है कि सरकार कानून बनाने से पहले हमारी राय मांग रही है। 

सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं साउथ इंडस्ट्री के सेलेब्स भी इसका विरोध कर रहे हैं। साउथ सिनेमा के स्टार कमल हासन ने इस बदलाव को लेकर कहा कि हम तीन बंदर की तरह आंख, मुंह और कान नहीं बंद कर सकते। प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के सीईओ नितिन तेज आहूजा ने बताया कि फिलहाल फिल्म इंडस्ट्री कोविड के प्रभाव से जूझ रही है। ऐसे माहौल में यह सुधार एक नया संकट है। गिल्ड सारे मेंबर्स और एक्सपर्ट के साथ चर्चा करेगा और हम अपना विरोध भी जरूर दर्ज कराएंगे। इस मामले में कई बड़े प्रोडक्शन हाउस की तरफ से कोई रिएक्शन नहीं आया है। सबको उनके भी जवाब का इंतजार है। हालांकि फरहान अख्तर और अनुराग कश्यप ने भी बाकी कई प्रोड्यूसर्स के साथ ऑनलाइन याचिका दायर की है।