WTC Final 2021: न्यूजीलैंड को चुनौती देने के लिए तैयार चेतेश्वर पुजारा

भारतीय क्रिकेट टीम के भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से पहले बयान दिया है। उनका कहना है कि अगर भारत इस पहले खिताब को जीत जाता है तो टेस्ट चैंपियनशिप को उसी तरह से लोकप्रियता मिलेगी जैसे 2007 का टी-20 विश्व कप जीतने के बाद सबसे छोटो फॉर्मेट को प्रसिद्धि मिली थी टीम इंडिया के इस बल्लेबाज का मानना है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल खेलना उनके लिए बड़ी बात है। हालांकि उनका मानना है कि वह इस फाइनल को अन्य टेस्ट मैचों की तरह लेंगे। 

ऑनलाइन संवाददाता सम्मलेन में जब उनसे साल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में टी-20 वर्ल्ड कप जीतने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, मुझे निश्चित रूप से लगता है कि टेस्ट क्रिकेट को जिंदा रहने की जरूरत है और ये वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल इसमें मदद करेगा। पुजारा ने आगे कहा, अगर हम फाइनल जीत जाते हैं तो भारत में और युवा टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहेंगे. भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में टेस्ट क्रिकेट को जीवित रखने की जरूरत है। ऐसा करने के डब्ल्यूटीसी एक कारगर तरीका है।

उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत रूप से ये मेरे लिए मायने रखता है क्योंकि मैं सिर्फ टेस्ट खेलता हूं। ये पहला मौका है जब हम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल खेल रहे हैं। पुजारा के मुताबिक फाइनल तक पहुंचने के लिेए हमने कड़ी मेहनत की। यहां तक आपको पहुंचने के लिए देश और विदेश में सीरीज जीतनी होती है। खेल में टॉप रहने के लिए बहुत मेहनत की जरुरत होती है। ये एक वर्ल्ड कप फाइनल की तरह  है। पुजारा के मुताबिक, टेस्ट फॉर्मेट में ये पहली बार लेकिन ये टी-20 या एकदिवसीय विश्व कप खेलने की तरह है। एक टीम के रूप में मुझे फाइनल का इंतजार है। चेतेश्वर पुजारा का मानना है कि न्यूजीलैंड की टीम कुछ फायदे में हैं, लेकिन हमारे लिए ये महत्वपूर्ण है कि हम फाइनल खेल रहे हैं। 

पुजारा के मुताबिक, लगभग तीन सप्ताह क्वारंटीन के बाद गेंदबाजों ने इंट्रा स्क्वायड मैच में गेंदबाजी पर जोर दिया। जबकि बल्लेबाजों कोो अभ्यास करने का बेहतर मौका मिला। उन्होंने आगे कहा, ये बल्लेबाजों और गेंदबाजों को लय में आने का बेहतरीन अवसर था, हम क्वारंटीन में थे लेकिन हमने प्रैक्टिस शुरू कर दी थी। इसलिए जब हम मैदान पर इसका अधिकतम लाभ उठाना चाहते थे। इसके अलावा पुजारा ने टीम इंडिया के गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और उमेश यादव की जमकर तारीफ की। उनके मुताबिक इस चौकड़ी को अब मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर से मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि हम अपनी शानदार गेंदबाजी के चलते फाइनल में पहुंचे हैं।