बीजेपी ने झोंकी जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख चुनाव में ताकत

जेपीएस राठौर बने जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख चुनाव प्रभारी

समाजवादी पार्टी से भाजपा की सीधी जंग

लखनऊ। बीजेपी नेतृत्व ने जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख के पदों पर हो रहे चुनाव को लेकर बहुत गम्भीर है। कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है। पार्टी ने चुनाव को लेकर कमर कस ली है। प्रदेश सरकार के प्रभारी मंत्रियों को भी अलर्ट कर दिया गया है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के नतीजों में मिली शिकस्त को पार्टी ने सीरियसली लिया है। वैसे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह कई बार कह चुके है कि 50 से अधिक बीजेपी के जिला पंचायत अध्यक्ष जीतेंगे। सब गणित का खेल है। जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी का फॉर्मूला प्रायः लोकतंत्र में सफल होते देखा जाता है। निर्दलीय सदस्यों के सहारे नैया पार करने की जुगत लड़ा रहे हैं दावेदार। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के नतीजों ने सपा को अव्वल जरूर बनाया था लेकिन बिन निर्दलीयों के उसे भी धारा पार करने में मुश्किल होगी। असल जंग बीजेपी और सपा में ही है। जोड़तोड़ और बागियों को पटाने के ही रास्ता है। इस दिशा में दोनों दल पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। एक कहावत आम है कि जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख का चुनाव में सत्तारूढ़ दल का वजन अन्य की अपेक्षा अधिक होता है। कारण स्पष्ट है कि सदस्य नफा नुकसान देखकर ही मतदान करते हैं। बीजेपी नेतृत्व ने भाजपा के प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर को जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए प्रभारी नियुक्त किया है। पार्टी सभी 75 जिलों में चुनाव के लिए प्रदेश सरकार के एक मंत्री और एक पार्टी पदाधिकारी को भी प्रभारी नियुक्त करेगी। भाजपा पूरी ताकत के साथ 75 जिला पंचायतों और 826 क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष का चुनाव लड़ रही है। पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए उम्मीदवारों का चयन कर लिया है, सिर्फ औपचारिक घोषणा बाकी है। वहीं क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के उम्मीदवारों के लिए जिलों और क्षेत्रों से पैनल मांगा गया है। पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष और क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव की कमान जेपीएस राठौर को सौंपी है। जेपीएस राठौर इससे पहले लोकसभा चुनाव 2014, विधानसभा चुनाव 2017, लोकसभा चुनाव 2019 में भी चुनाव प्रबंधन के प्रभारी रहे हैं।इससे पहले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक को प्रभारी नियुक्त किया गया था।