शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार चरम पर: अशोक मलिक

सहारनपुर। अपनी विभिन्न समस्याओं के निराकरण कराने की मांग को लेकर आज उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त विद्यालय शिक्षक संघ ने जिला बेसिक शिक्षाा अधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया। धरने पर बैठक शिक्षक नेता अशोक मलिक ने कहा कि शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार चरम  सीमा पर है और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के संरक्षण में एक भ्रष्ट लिपिक श्रीवर्धन यादव एक ही सीट पर 8 वर्ष से जमा पड़ा है जिसके खिलाफ शासन में विधान परिषद में प्रश्नकाल में नियम 115 के अनुसार विधायक डॉक्टर जयपाल सिंह ने फरवरी 2021 में  जोरदार तरीके से उठाया और दूसरे विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह ने भी 11 दिसंबर  2020 को महा निदेशक बेसिक शिक्षा निदेशालय में कठोर कार्रवाई करने के लिए अनुरोध किया गया था लेकिन ऐसे भ्रष्ट  लिपिक से जिला बेसिक अधिकारी के द्वारा महत्वपूर्ण मान्यता की पत्रावली या का निष्पादन कराना बीएसए पर सवालिया निशान खड़ा करना है यानी भ्रष्ट लिपिक के साथ जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी का जबरदस्त गठजोड़ है बीएसए कार्यालय का खेल यही तक नहीं बल्कि पूर्व में एक भ्रष्ट प्रधानाचार्य देश दीपक डाबरी की जांच की पत्रावली सहित कई अन्य पत्रावली भी गायब कर दी है जिसमें शिक्षा विभाग का खेल मुख दर्शक बने हुए खेला जा रहा है प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए संघ के प्रदेश अध्यक्ष अशोक मलिक ने कहा की वर्तमान सरकार में भी संस्कृत त्रिभाषा अनुदान बहाल नहीं हुआ तो भविष्य में भारतीय संस्कृति की सुरक्षा कवच कहीं जाने वाली संस्कृत भाषा विलुप्त हो जाएगी उत्तर प्रदेश में करीब 800 संस्कृत बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूल है जो सभी सरकार की अनदेखी के परिणाम स्वरूप बंद होने के कगार पर है सरकार ने हमारा आर टी ई बकाया पैसा गत वर्षों का नहीं दिया है इस प्रकार हम इस वित्तीय सत्र में गरीब दुर्बल वर्ग का कोई भी बच्चा प्रवेश नहीं लेंगे और पिछले वर्षों के आरटीई के बच्चों को हम बाहर निकालने का काम करेंगे हम ने चेतावनी दी है कि यदि हमें आर्थिक राहत पैकेज नहीं है तो हमने विभाग को सूचना दे दी है कि 30 जून तक सरकार ने हमारे स्कूलों की समुचित व्यवस्था नहीं की गई तो 30 जून की महापंचायत में 1 जुलाई से स्कूल खोलने की घोषणा कर दी जाएगी। बैठक को प्रदेश सचिव अमजद अली एडवोकेट जिला अध्यक्ष के पी सिंह महानगर अध्यक्ष शबाना सिद्दीकी गयूर आलम प्रवीण गुप्ता अब्दुल कादिर संजय शर्मा हंस कुमार ऋषि पाल सैनी शिवकुमार मालिया जितेंद्र गोरिया शीशपाल सिंह मुकेश सहजवस  मुजाहिद नदीम यशपाल सिंह उमा बाटला जोरा सिंह आदि ने संबोधित किया धरने में समय सिंह विनोद कुमार अनु देवी सहीराम नरेंद्र कुमार त्यागी नरेश वर्मा दिनेश रो पड़ी बुरहान अली वंदना सुभाष आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।