"विश्वास"

विजय देर से ही सही

लेकिन

मिलेगी ज़रूर।

बस इतना करते रहो

ढील न आने दो

अपने प्रयासों में।

देरी देखकर

धैर्य मत छोड़ो।

एक आशा

जगाए रखो।

इस विश्वास पर

अधिकार जमाए रखो।

"विजय तुम्हारी है

और तुम जीतोगे।"

अर्चना त्यागी