जिला कारागार महिला बैरक का किया निरीक्षण

मऊ जनपद में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मऊ कॅुवर मित्रेश सिंह कुशवाहा द्वारा विडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपराहन 12ः25 बजें जिला कारागार के महिला बैरक का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उप जेलर अजय कुमार झाॅ द्वारा बताया गया कि महिला बैरक में कुल 23 महिला बंन्दी निरूद्ध हैं। महिला बंदियों में दो महिलाओं के साथ 5 साल से कम उम्र के बच्चे हैं। पुछ-ताछ के दौरान महिला बंदियों ने बताया कि उन्हे समयानुसार नाश्ता, भोजन व उनके बच्चों को दूघ व पुष्ठाहार दिया जा रहा है। उनके द्वारा बताया गया कि उनके मुकदमें में पैरवी हेतु अधिवक्ता नियुक्त हैं, कोविड-19 के सम्बन्ध में बताया गया कि सभी महिला बंदी का टीकाकरण कराया जा चूका है। किसी को विमार या कोई समस्या नही होना बताया गया। समय-समय पर बैरक का सेन्टाइजेशन व महिला बंदी को मास्क उपलब्ध कराया जाना बताया गया।

सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मऊ द्वारा जिला जेलर को  निर्देर्शित किया गया कि पाॅच साल से कम उम्र के बच्चों को समयानुसार दूध व पुष्ठाहार उचित मात्रा में उपलब्ध कराया जाये। उन महिला बंदी को जो भोजन बनाने का कार्य कर रही हैं, उनकों गुणवत्ता युक्त भोजन व पारिश्रमिक उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करे। कारागार में यदि पुस्तकालय न हो तो पुस्तकालय की व्यवस्था की जाये जिससे बन्दी महिलाओं द्वारा अखबार व किताबों का अध्ययन किया जा सके। कारागार में दो महिला बन्दी कन्वीक्टेड 302 के अन्तर्गत निरूद्ध हैं तथा एक महिला बन्दी 304 बी0 में कन्वीक्टेड है। जिनके बारे में उप जेलर द्वारा बताया गया कि इनकी अपील हो चुकी है।

उप जेलर को निर्देशित किया गया कि यदि महिला बन्दी कारागार में भोजन बनाना चाहती है तो इस संबंध में जेल मैनुअल के अनुसार आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देश दिया गया, जिससे उनके बच्चों को समय-समय पर और गुणवत्तायुक्त भोजन मिल सके, तथाा उनको पारिश्रमिक भी मिल सके।