छह भाषाओं के साथ ग्लोकल विश्वविद्यालय में हुई लैंग्वेज स्कूल की शुरुआत

सहारनपुर। वैश्वीकरण के दौर मंे विश्व की विभिन्न भाषाओं की जानकारी के लिए हमेशा उत्सुकता बनी रहती है। इसी जानकारी को आसान बनाने के उद्देश्य से ग्लोकल विश्वविद्यालय ने 6 भाषाओं के साथ लैंग्वेज स्कूल की शुरूआत की है।

जनपद के मिर्जापुर पोल स्थित ग्लोकल विश्वविद्यालय में इस शैक्षिक सत्र से विभिन्न भाषाएँ सिखाने के लिए ग्लोकल स्कूल ऑफ़ लिंगविस्टिक एंड लैंग्वेज स्टडीज कि स्थापना कि गई है। इसके माध्यम से छात्र-छात्रों को सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और एडवांस डिप्लोमा दिया जायेगा, कुल मिला कर 6 भाषाओ के साथ लैंग्वेज स्कूल कि शुरुआत कि जा रही है, इनमे जर्मन,फ्रेंच,चाइनीस ,अरबी ,जैपनीस और इंलिश लैंग्वेज शामिल है वैश्वीकरण के दौर में विश्व में भाषाओ और विदेशी संस्कृतिओ के जान पहचान और अध्यन से बहुत सारी रोजगार कि सभावनाये बढ़ी है। इसी को ध्यान में रखते हुए ग्लोकल विश्वविधालय लैंग्वेज स्कूल कि स्थापना कि है, सटिफिकेट और डिप्लोमा कौड्र्स करने वाले छात्र छात्रों को ट्रांसलेटर ,द्विभाषिये और लाइसिनिंग  अफसर कि नौकरिया मिलेंगी इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय टूरिस्ट डेस्टिनेशंस पर भी विदेशी भाषा जानने वालो कि जरुरत रहती है ,टूर और ट्रैवेलिंग के क्षेत्र कि कम्पनिया भी अधिक भाषा जानने वाले लोगो को नौकरी में लेना पसंद करती है। इंग्लिश विभाग पहले से ही इस्थापित था और उसके अंतर्गत वाद विवाद,राइटिंग प्रत्योगिता, भाषण का अयोजन किया जाता रहा है , पर्सनालिटी डेवलपमेंट ,प्रोफेशनल राइटिंग और एडवांस कम्युनिकेशन के कोर्स और छात्र छात्राओं के लिए उपलब्ध थे । ग्लोकल विश्वविधालय  में 17  देशो 200 से भी जायदा  छात्र  छात्राये पढाई कर रहे है ,इस लिहाज से लैंग्वेज कोर्सेज और भी महत्पूर्ण है ,ग्लोकल विश्विधालय में 55  से ही जायदा डिग्री ,डिप्लोमा और सटिफिकेट कोर्सेज का संचालन किया जा रहा है , अब अंग्रेजी के आलावा अन्य भाषाओ को सिखने का मौका सहारनपुर और आस  पास के क्षेत्र  के  बच्चो को मिलेगा जिससे  युवाओ के लिए  रोजगार के मौके बढ़ेंगे।