स्वच्छता अभियान की खुलेआम उड़ रही धज्जियाँ

अमौली फतेहपुर। विकासखंड के गांव दपसौरा में नालियों की नियमित सफाई न होने से ग्रामीणों के बुरा हाल है समय पर नालियों की सफाई न होने से नालियां पूरी तरह जाम हो गयी है ग्रामीण पूरी तरह से त्रस्त है और वह सफाई की गुहार लगाकर थक गए है उन्हें संक्रमण बीमारी फैलने का हर समय भय सताता रहता है क्षेत्र के विभिन्न गॉवो में  चल रहे डेंगू वायरल फीवर मलेरिया टाइफाइड के प्रकोप से जनता परेशान है बावजूद इसके जिला प्रशासन के जिम्मेदारों के कानों में जूं तक नही रेंगती ! 

 ग्रामवासी बताते है की बीते कई महीनों से गांव की गालियां व नालियों की सफाई नही हुई है जिससे कि नालियाँ व नाला चोक हो गए है लोगो के घरों का निकलने वाला गंदा पानी सड़को पर बह रहा है गंदगी होने के कारण ग्रामीणों को खुद नालियों की सफाई करनी पड़ रही है सफाई कर्मी कई वर्षों से गांव में नही आ रहे है जिससे ग्रामसभा में रोड व नालियों में गंदा पानी भरा रहता है ग्रामीणों को गंदे पानी के जमाव से कई तरह की बीमारियाँ फैलने की आशंका बनी रहती है ।

एक ओर पूरा गांव गंदगी से  पटा है  जो दूसरी ओर सड़क पर गंदा पानी भरे होने से कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ पूरा देश को कोविड - 19 जैसी महामारी से जूझ रहा है और सफाई कर्मियों को कोरोना योद्धा माना गया है  वही दूसरी तरफ सफाई कर्मियों के न आने से ग्रामसभा का बुरा हाल है हर ग्रामीण का एक ही सवाल है कि तमाम शिकायतों के बाद भी अधिकारी इन पर कार्यवाही क्यो नही करते?? ग्रामसभा में गंदगी के अंबार की तस्वीर  यहां के ग्रामीणों के हाल बयाँ कर रहे है।