MPBSE MP Board 12th Exam 2021 : इंदर सिंह परमार ने कहा- हालात सामान्य होने पर परीक्षा कराई जाएगी

MPBSE MP Board 12th Exam 2021 :  एमपी बोर्ड 12वीं परीक्षा पर जून के पहले सप्ताह में फैसला हो सकता है। परीक्षा की घोषणा एग्जाम शुरू होने की डेट से 20 दिन पहले की जाएगी ताकि स्टूडेंट्स अपनी तैयारी कर सकें। यह बात मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) मंत्री इंदर सिंह परमार ने कही। एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि हालात सामान्य होने पर ही परीक्षा कराई जाएगी। 

इंदर सिंह परमार ने कहा, 'राज्य में 31 मई तक कोरोना कर्फ्यू है। इसके बाद की स्थिति की समीक्षा करने के बाद हम परीक्षाओं पर निर्णय करेंगे। संभवत: 5 जून के बाद चर्चा करके परीक्षाओं पर फैसला करेंगे। केंद्र सरकार ने राज्य बोर्डों का फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा है। हमारे प्रश्न पत्र पहले ही छप चुके हैं। ऐन वक्त पर कोरोना की लहर के चलते परीक्षा टालनी पड़ी थी। हम पहले बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे। सुरक्षा से समझौता नहीं करेंगे। सामान्य परिस्थितियां होने पर ही परीक्षा कराने के विकल्प पर विचार करेंगे। एमपी बोर्ड और शिक्षा विभाग जून के पहले सप्ताह में समीक्षा करेगा और हालात सामान्य रहे तो परीक्षा कराई जाएगी। 

शिक्षा मंत्री ने कहा, 'संसाधनों की कमी की वजह से ऑनलाइन परीक्षाएं नहीं कराई जा सकती।'

स्कूलों को लेकर उन्होंने कहा कि पूर्ण रूप से स्थिति सामान्य होने पर ही स्कूलों को खोला जाएगा। 

उन्होंने कहा कि परीक्षाओं की घोषणा एग्जाम डेट से कम से कम 20 दिन पहले की जाएगी ताकि विद्यार्थियों को फाइनल तैयारी का समय मिल सके। परीक्षाएं 15 दिनों के भीतर संपन्न होंगी। परीक्षाएं करानें और रिजल्ट घोषित करने में करीब 80 दिन लगेंगे। 

एमपी बोर्ड 10वीं की परीक्षा का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट से

मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की शैक्षणिक सत्र 2020-21 की 10वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द कर चुका है। कक्षा 10वीं के नियमित छात्रों के परीक्षा परिणाम की गणना अर्धवार्षिकी परीक्षा या प्री-बोर्ड परीक्षा, यूनिट टेस्ट और आंतरिक मूल्यांकन के अंकों का अधिभार नियत कर की जाएगी। स्वाध्यायी छात्रों के लिए आंतरिक मूल्यांकन का प्रावधान नहीं होने से, समस्त छात्रों को न्यूनतम अंक (33) अंकित करते हुए अंकसूचियां जारी की जाएगी।