JAC Exam 2021 : 9वीं और 11वीं के छात्र अगली क्लास में हुए प्रमोट

नौंवी और 11वीं के छात्र छात्राओं को अगली क्लास में प्रमोट कर दिया गया है। वे  बिना किसी मूल्यांकन के ही 10वीं और 12वीं में चले गए हैं। 2022 में होने वाली मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक हर्ष मंगला ने इस संबंध में गुरुवार को निर्देश जारी कर दिया है। उन्होंने सभी जिलों के उपायुक्त और जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश भेज दिया है। 

माध्यमिक शिक्षा निदेशक हर्ष मंगला ने कहा है कि कोविड-19 की वजह से पिछले शैक्षणिक सत्र में भी  17 मार्च 2020 से कुछ समय को छोड़कर स्कूल बंद है। क्लास का स्कूलों में संचालन नहीं किया जा सका है। इस परिस्थिति को देखते हुए झारखंड एकेडमिक काउंसिल की ओर से 2020-21 में नवमी और ग्यारहवीं में नामांकित छात्र छात्राओं की प्रोन्नति के लिए परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा सका। इससे पहले पहली से आठवीं के छात्र-छात्राओं को अगली क्लास में प्रमोट किया जा चुका था। पिछले साल आठवीं में रहे छात्र छात्रा इस शैक्षणिक सत्र में नौंवी क्लास में  प्रमोट हो गए हैं और नामांकन ले रहे हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने कहा कि वर्तमान शैक्षणिक सत्र 2021-22 एक अप्रैल से शुरू हो चुकी है। सत्र शुरू हुए लगभग दो माह बीत चुके हैं। कोविड-19 की गंभीरता को देखते हुए राज्य सरकार ने तीन जून तक स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह को बढ़ाया है। कोविड के संक्रमण को देखते हुए अगले कुछ महीने तक स्कूल खुलने की संभावना नहीं दिख रही है। ऐसे में नौंवी और 11वीं के  विद्यार्थियों को अगली क्लास में प्रमोट नहीं करने पर मैट्रिक और इंटरमीडिएट के पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलता। इसलिए नौवीं और 11वीं के छात्र छात्राओं को दसवीं और 12वीं में प्रोन्नत करने का निर्णय लिया गया है, जो वर्तमान शैक्षणिक सत्र में प्रभावी होगा। उन्होंने निर्देश दिया है कि सभी जिले के सरकारी स्कूलों के प्रधानाध्यापक प्रधान शिक्षक को इसकी जानकारी दे दी जाए और प्रमोट किए गए अगली क्लास में छात्र-छात्राओं का नामांकन हो सके और उन्हें पठन-पाठन और डिजिटल कंटेंट उपलब्ध कराया जा सके।