बैंकिंग शेयरों के चलते ऑल टाइम हाई पर बंद हुआ निफ्टी

मुंबई: गुरुवार को मंथली फ्यूचर एंड ऑप्शन की एक्सपायरी के दिन बाजार में निगेटिव बायस दिखा था, लेकिन बैंकिंग शेयरों के चलते आज एनएसई का निफ्टी अपने रिकॉर्ड हाई लेवल पर बंद हुआ है. कोविड के गिरते मामलों के बीच निफ्टी में लगातार पांचवें दिन तेजी बनी हुई है. दिन में थोड़ा उतार-चढ़ाव दिखा था, लेकिन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सहित कई बैंकिंग शेयरों में कारोबार के अंत तक बाइंग दिखी, जिसके चलते सेंसेक्स-निफ्टी दिन के उच्चतम स्तर पर चढ़कर बंद हुए.

बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 97.70 अंक यानी 0.19 प्रतिशत की बढ़त के साथ 51,115.22 अंक पर बंद हुआ. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 36.40 अंक यानी 0.24 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,337.85 अंक पर पहुंच गया. निफ्टी मई सीरीज में लगभग 3 फीसदी और सेंसेक्स 2.71 फीसदी की बढ़त हासिल कर चुका है.

आज के कारोबार में 1675 शेयर तेजी में रहे, 1314 गिरे और 121 में कोई बदलाव नहीं हुआ. फार्मा और एनर्जी सेक्टर छोड़कर बाकी सभी सेक्टोरल इंडेक्स बढ़त के साथ बंद हुए. निफ्टी बैंक, आईटी और पीएसयू बैंकिंग इंडेक्स में 1-2 फीसदी की बढ़त आई.

सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में एसबीआई का शेयर सबसे अधिक करीब तीन प्रतिशत चढ़ गया. कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, बजाज ऑटो, टेक महिंद्रा, अल्ट्राटेक सीमेंट और पावरग्रिड के शेयर भी लाभ में रहे. वहीं दूसरी ओर एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, ओएनजीसी और भारती एयरटेल के शेयरों में गिरावट रही. 

रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा, ‘वायदा एवं विकल्प निपटान के बीच उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में घरेलू शेयर बाजारों ने जुझारू क्षमता दिखाई और कारोबार सीमित दायरे में रहा.' आईटी शेयर लगातार दूसरे दिन मांग में रहे. मोदी ने कहा कि शॉर्ट कवरिंग की वजह से भी कुछ काउंटर को समर्थन मिला. 

अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कॉस्पी और जापान का निक्की नुकसान में रहे. चीन के शंघाई कम्पोजिट में लाभ रहा. दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में थे. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.77 प्रतिशत के नुकसान से 68.20 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था.