नापाक हरकत

पीठ पीछे चीन ने जो,

चाकू भोंका है ।

यह परोक्ष नहीं ,

यह अपरोक्ष युद्ध ,

दुनियां भर पर थोपा है।।

मीडिया से छनकर,

खबरें जो आरही हैं ।

चीन की नापाक ,

हरकत बता रही हैं।।

दुनियां भर में मातम,चीन में होता जश्न ।

 सोचिए क्या कहता है?

 वायरस से विश्व पर प्रहार। 

एक के बाद दूसरा,

 दुसरे के बाद,

अब तीसरा वार।।

करने को तैयार,चीन

तहेदिल से हंसता है।

सोचिए क्या कहता है?

दुनियांभर की तस्वीर जो,

आंखों से दिख रही‌ है।

हर किसी की पोस्ट,

श्रद्धांजलि लिख रही है।।

भारी मन है आंखों से ,

आंसू बरसता है।

सोचिए क्या कहता है?

करते घिनौनी हरकत,

कुछ कफ़न के सौदागर।

सदमे के समन्दर में ,

ख़ुशी ख़ुशी नहाकर।।

लाचार बेबसी में शव ,

जो नदी में ‌ बहता है।

सोचिए क्या कहता है?

उठ रही‌ है आंधी,

लिए धूल और गर्दा।

अपने किए-धिए पर ,

डालने को पर्दा।।

हर कोई दूसरे के,

 चक्कर में रहता है।

सोचिए क्या कहता है?

-गौरीशंकर पाण्डेय  सरस