कोरोना को मात देकर घर लौट रहे मरीज

उरई/जालौन। जनपद में बड़ी संख्या में लोग नियमों का पालन करते हुए कोरोना से जंग जीतकर हंसी खुशी घर लौट रहे हैं। उरई क्लब में बने लेवल वन कोविड अस्पताल के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. कौशल किशोर सिंह ने बताया कि कोविड पॉजिटिव होने के बाद मरीजों को कुछ नियमों का पालन करना होता है। उन्हें अपनी दिनचर्या में बदलाव करना होता है। समय से सोना और समय से जागने के अलावा समय से दवाएं, गर्म पानी का सेवन और भाप लेना होता है। मरीज इन नियमों का पालन करता है तो वह ठीक भी हो जाता है। इसके अलावा होम आइसोलेशन में भी रहकर कोरोना प्रोटोकाल के हिसाब से कोरोना को मात दी जा सकती है। ऑक्सीजन लेवल की समस्या होने, गंभीर बीमारी से ग्रसित होने या गर्भवती होने पर ही मरीज अस्पताल में भर्ती होना चाहिए। उन्होंने बताया कि कोविड अस्पताल से शनिवार को तीन मरीजों को ठीक होने पर छुट्टी दे दी गई। उरई क्लब में बने कोविड अस्पताल से शनिवार को डिस्चार्ज हुए रामजी ने बताया कि उन्होंने अस्पताल में स्टाफ द्वारा बताए गए नियमों का पालन किया। अस्पताल के स्टाफ ने भी इलाज के दौरान जो भी समस्या आई उसे गंभीरता से लिया और पूरी मदद की। डिस्चार्ज हुए अरविंद ने बताया कि उन्हें अस्पताल स्टाफ से पूरी मदद मिली, जिसकी वजह से वह कोरोना से जंग जीत सके। वह घर पर भी जाकर कोरोना नियमों का पालन करेंगे।