अलविदा,कोरोना से मुल्क और पूरी दुनिया के निजात के लिए दुआएं

बांदा। रमजान माह के आखिरी जुमा यानी अलविदा में मस्जिदें नमाजियों से अबकी भी खचाखच भरी नजर नहीं आयी। कोविड-19 की गाइडलाइन में मस्जिदों में सिर्फ पांच लोगों को ही एक साथ नमाज अदा करने की इजाजत रही। यह लगातार दूसरा साल है जब वबा (महामारी) की वजह से अलविदा की सामूहिक नमाजें अदा नहीं हो पायी हैं। शहर काजी और शेख सरवर साहब की मस्जिद के इमाम मौलाना मेराज मसूदी (अकील मियां) और नवाबी जामा मस्जिद व ईदगाह के मुतवल्ली डा. शेख सादी जमां ने मुस्लिमों से अपील की है कि यूपी हुकूमत और जिला प्रशासन की कोरोना गाइडलाइन पर अमल करें। घरों पर ही नमाज अदा करें। कोरोना से मुल्क और पूरी दुनियां के निजात के लिए खुसूसी दुआएं मांगी।