पंचायत चुनाव में जीते ज्यादातर निर्दलीय प्रत्याशी बसपा से जुड़े हुये लोग: मायावती

 

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने पंचायत चुनाव परिणाम को पार्टी के लिये उत्साहवर्धक बताते हुये दावा किया कि चुनाव में जीते ज्यादातर निर्दलीय प्रत्याशी बसपा से जुड़े हुये लोग हैं। मायावती ने गुरूवार को एक बयान जारी कर कहा कि पंचायत चुनाव में सत्ता व सरकारी मशीनरी का भारी दुरुपयोग एवं विरोधी पार्टियों द्वारा अपार धनबल के अनुचित इस्तेमाल के बावजूद बहुजन समाज पार्टी ने लगभग पूरे प्रदेश में जो रिजल्ट प्रदर्शित किया है वह अति-उत्साहवर्द्धक है तथा यहाँ होने वाले अगामी विधानसभा आमचुनाव के लिए लोगों में नई उर्जा, जोश भरने व हौंसले बुलन्द करने वाला है। उन्होने प्रदेश की जनता का तहेदिल से आभार प्रकट करते हुए तथा पार्टी के हर स्तर के सभी छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि जितने भी निर्दलीय उम्मीदवार कामयाब हुए हैं उनमें से ज्यादातर वास्तव में बी.एस.पी. से ही जुड़े हुए लोग हैं, जिन्होंने खासकर रिजर्व सीटों पर आम सहमति नहीं बन पाने पर अपने- अपने बूते पर ही चुनाव लड़कर जीत हासिल की है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि यूपी के जिन जिलों में बी.एस.पी-समर्थित उम्मीदवार के लिए आम सहमति बन गई वहाँ बी.एस.पी. का अच्छा रिजल्ट आया तथा जिन जिलो में आम सहमति नहीं बनने के कारण, एक-एक सीट पर कई लोग बी.एस.पी. का झण्डा-बैनर आदि लेकर चुनाव लड़ते रहे, वहाँ सामान्य सीटो पर तो पार्टी को ज्यादा नुकसान नहीं हुआ, लेकिन सुरक्षित सीटो पर पार्टी के कई-कई उम्मीदवार खड़े होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका, जिसका फिर ज्यादातर लाभ विरोधी पार्टियों को पहुँच गया। उन्होने कहा कि इससे काफी कुछ सबक सीखकर अब पार्टी के लोग खुद ही आगे ऐसी गलती नहीं करेंगे, ऐसी उनसे पूरी-पूरी उम्मीद है।