नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद ने बलिया की स्वास्थ्य व्यवस्था पर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

मा. मुख्यमंत्री जी

उत्तर प्रदेश सरकार, लखनऊ

महोदय,

    कोरोना महामारी की दूसरी लहर से पूरा प्रदेश भयंकर रूप से प्रभावित है। प्रतिदिन 30 हजार के आसपास नए मरीज मिल रहे हैं। हजारों की संख्या में लोगों की जाने जा रही हैं। गांव-गांव यह बीमारी पसर चुकी है। गांवों में जांच नहीं हो रही। लोग अपनी जान गवां रहे हैं। मेरा गृह जनपद बलिया भी इस बीमारी से बहुत गंभीर रूप से प्रभावित है। कोरोना के सैकड़ों मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं। जबकि आबादी के हिसाब से स्वास्थ्य सुविधाएं नाकाफी हैं।जनपद में ऑक्सीजन बिल्कुल ही उपलब्ध नही है चिकित्सालयों में बेड और जीवन रक्षक दवाइयां नही है  जिस कारण जनपद में मरने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही है।

समाजवादी पार्टी की सरकार के कार्यकाल में बलिया के जिला चिकित्सालय में ट्रामा सेंटर का निर्माण कराया गया था। जिसमें 18 वेंटिलेटर, सिटी स्कैन की मशीन भी लगाई गई थी जो आजतक चालू नहीं हो सकी। साथ ही उसी ट्रामा सेंटर में आरटीपीसीआर जांच लैब भी स्थापित किया गया था। वह भी बेकार पड़ा हुआ है। जिले के लोगों की आरटीपीसीआर की जांच रिपोर्ट चार से पांच दिनों में आती है। इस दौरान सैम्पल देने वाला व्यक्ति कई स्थानों पर जाता है और बीमारी फैलती है। जनपद में ऑक्सीजन के लिए लोग तड़प कर जान गवा रहे हैं। लम्बे समय से सामाजिक जीवन होने के कारण प्रतिदिन जनपदवासी चिकित्सकीय सहयोग के लिए मुझ से संपर्क करते हैं। जिले के चिकित्सा विभाग के आला अधिकारियों के यहा  फोन करने पर किसी का फोन मिलता नही है किसी का मिल रहा है तो उसका फोन उठ नही रहा है जिससे समस्या और जटिल हो जा रही है  दुःख के साथ आप से कहना पड़ रहा है कि जिले की लचर स्वास्थ्य सेवा के कारण हमलोग दूसरे जनपदों में अपने व्यक्तिगत संपर्कों के जरिये मदद की कोशिश करते हैं। क्योकि अगर जनपद के किसी डॉक्टर से बात हो भी रही है तो वह आवश्यक दवा, ऑक्सीजन के अभाव की बात कह कर संवेदन में रोने लगता है स्थिति अत्यंत ही भयंकर हो गई है।अगर ये सुविधाएं बलिया में ही होती तो लोगों की जान बच जाती। मेरे निर्वाचन क्षेत्र में मनियर,रिगवन, बांसडीह, बेरुआरबारी व रेवती के स्वास्थ केंद्रों पर भी सुविधा का घोर अभाव है।न वेड है न दवा है कही कही तो कर्मचारी भी नही है।

      महोदय अभी आप ने दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा किया और वहा के स्वास्थ व्यवस्था की जानकारी ली है। उसी प्रकार आप बलिया का भी दौरा किये होते तो मुझे व जनपद के लोगों को खुशी होती। बलिया आज़ादी के दीवानों का जिला है। देश की आज़ादी के नायकों ने बलिया को अंग्रेजों के शासन से देश के अन्य हिस्सों से पहले ही आज़ाद करा दिया था। यह समग्र क्रांति के अगुआ लोकनायक की जन्मस्थली है। महान समाजवादी नेता पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी की भूमि बलिया के साथ आप को न्याय करना चाहिए।जिस बलिया के लोग देश के मान सम्मान के लिए अपने प्राणों की आहूति देते आये हैं, आज उसी जनपद के लोग लचर स्वास्थ व्यवस्था के कारण जान गंवाने के लिये मजबूर हैं।

         अतः आप से आग्रहपूर्वक कहना है कि बलिया के ट्रामा सेंटर को यथाशीघ्र चालू करने के निर्देश दीजिए। साथ ही वहां रखी वेंटिलेटर मशीनें, आरटीपीसीआर जांच लैब तत्काल शुरू कराइये। जनपद को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के साथ ही ऑक्सीजन प्लांट तत्काल स्थापित कराने की व्यस्था कराएं। यहाँ आप से यह भी कहना है कि आप विधायक निधि तो इसके पूर्व ही ले चुके है फिर भी अगर सरकार के पास बलिया जनपद के स्वास्थ व्यवस्था ठीक करने के लिए धन की कमी है तो विधायक के रूप में जो पैसा सरकार से मुझे मिलता है उस धन को भी बलिया की जनता का जीवन बचाने हेतु स्वास्थ व्यवस्था के लिए  ले सकते है 

सधन्यवाद 

                  रामगोविन्द चौधरी

                  नेता प्रतिपक्ष (उ .प्र.)