‘महाराष्ट्र डे‘ पर, नेहा पेंडसे और जगन्नाथ निवांगुने ने कहा, ‘गर्व आहे मला मी महाराष्ट्रियन असल्याचा‘

भारत में महाराष्ट्र भौगोलिक रूप से विविध राज्यों में से एक है और सही मायने में यहां के लोगों और समृद्ध संस्कृति में उसकी झलक मिलती है। इस महान भूमि की शोभा बढ़ाने वाले संतों और दार्शनिकों ने इसकी ऐतिहासिक विरासत को बेहतर बनाने में अपना योगदान दिया है। हर साल 1 मई को महाराष्ट्र डे मनाया जाता है, और राज्य के हर क्षेत्र में मराठा भाषा को चिन्हित किया जाता हैै। महाराष्ट्र में जन्मे और पले-बढ़े, एण्डटीवी के कलाकारों नेहा पेंडसे और जगन्नाथ निवांगुने ने इस महत्वपूर्ण दिन पर सम्मान जताया और अपनी खुशी व्यक्त की। ‘भाबी जी घर पर हैं‘ की नेहा पेंडसे उर्फ अनिता भाबी ने कहा, मुझे गर्व है कि मैं महाराष्ट्रियन हूं और इस भूमि पर मेरा जन्म हुआ है, अनगिनत सफलताओं और भारत के समृद्ध इतिहास को दर्शाता है। इस राज्य की सांस्कृतिक धरोहर काफी समृद्ध है। यहां के ढेर सारे किलों, महलों, गुफाओं, पवित्र स्थलों तथा संग्रहलयों से, इस राज्य के विरासत की वास्तविक झलक मिलती है। इसके अलावा यहां के लोक संगीत, पारम्परिक नृत्य और स्वादिष्ट भोजन का उल्लेख करना भी जरूरी है। जब भी मैं किसी प्रसिद्ध किले या इमरात को देखने के लिए जाती हूं, मैं कोशिश करती हूं कि उसके पीछे के ऐतिहासिक महत्व के बारे में जानकारी हासिल कर सकूं। हर बार, जब भी मुझे  कुछ नया सुनने को मिलता है, वह मुझे गर्व की भावना से भर देता है। मैं आज की युवा पीढ़ी को अपनी जड़ों से जुड़ने के लिये प्रोत्साहित करती रहती हूं। साथ ही मैं उनसे कहती रहती हूं कि वो जिस भी राज्य में रहते हैं उसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानें। आप सभी को ‘महाराष्ट्र डे‘ की हार्दिक शुभकामनाएं। ‘‘ एक महानायक डॉ.बी आर आम्बेडकर‘ के जगन्नाथ निवांगुने उर्फ रामजी सकपाल ने कहा, महाराष्ट्रियन संस्कृति सिर्फ विविधतापूर्ण ही नहीं है बल्कि पूरे भारत में सबसे ज्यादा शानदार भी है। मुझे एक महाराष्ट्रियन होने पर बहुत गर्व है। मैं सभी को ‘महाराष्ट्र डे‘ की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। बचपन से ही, मैंने स्थानीय लोगों को संगीतमय रैलियों, ‘लेझिम‘ और ‘ढोल पथक‘ के स्ट्रीट परफाॅर्मेंस में हिस्सा लेते हुए देखा है। वह देखने लायक दृश्य होता है। इस साल अभी के हालातों को देखते हुए मैं सभी से यही आग्रह करना चाहूंगा कि इस दिन को अपने परिवार के साथ घर में सुरक्षित रहकर सेलिब्रेट करें। हमें यह नहीं भूलना चाहिए महाराष्ट्र ने कई मुश्किलों का सामना किया है और वह हमेशा ही पहले से ज्यादा मजबूत बनकर उभरा है।