गावस्कर : क्रुणाल ने अपनी बैटिंग से राहुल के ऊपर से हटाया दबाव

क्रुणाल पांड्या ने अपने डेब्यू वनडे मैच में अपनी बैटिंग से सबकी तरफ ध्यान आकर्षित किया है। भारत के पूर्व दिगग्ज बल्लेबाज सुनील गावस्कर भी क्रुणाल पांड्या की बैटिंग से काफी प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि क्रुणाल पांड्या को अपने डेब्यू मैच में ऐसे बल्लेबाजी करते हुए देखना शानदार था। उन्होंने कहा कि क्रुणाल पांड्या की पारी की वजह से केएल राहुल के ऊपर से दबाव कम हुआ। टी20 सीरीज में राहुल बुरी तरह फ्लॉप रहे थे। पांड्या ने मात्र 26 गेंदों में अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की। ये किसी भी डेब्यू बल्लेबाज के द्वारा वनडे में खेली गई सबसे तेज पारी है। पांड्या ने 31 गेंद में 58 रन बनाए। अपनी पारी में उन्होंने दो छक्के और सात चौके लगाए। उन्होंने एक विकेट भी लिया।
स्टार स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम में गावस्कर ने कहा," क्रुणाल पांड्या को बैटिंग करते हुए देखना लाजवाब था। ये नहीं भूलो कि वो वनडे में अपना डेब्यू कर रहा था। इसलिए किसी भी बल्लेबाज के लिए आजादी के साथ खेलना मुश्किल होता है, जैसा उसने कर के दिखाया। वो आने के साथ ही सीधे खेल रहा था। इस समय केएल राहुल को बॉल को उस तरह से हिट नहीं कर रहे थे। क्रुणाल ने बीड़ा उठाया और केएल राहुल के लिए इसे आसान कर दिया। टीम की भावना ये ही होती है कि अपने टीम के साथी का दबाव कम करना। इसी वजह से उसकी बल्लेबाजी इतनी प्रभावशाली थी।
भारत ने मंगलवार को खेले गए पहले वनडे मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और इंग्लैंड के सामने 318 रन का लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य का पीछा करते हुई इंग्लैंड की टीम 251 रन ही बना पाई और उसने सारे विकेट गंवा दिए। भारत ने ये मैच 66 रन के साथ जीता और सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। दूसरा मुकाबला 26 मार्च को खेला जाएगा।