मदिरा व बीयर अनुज्ञापियों के साथ डीएम व एसएसपी ने की बैठक

बहराइच। आगामी होली का त्योहार/त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन-2021 तथा प्रदेश के कतिपय जनपदों में जहरीली शराब से हुई जनहानि के मद्देनजर नशीले पदार्थों की तस्करी/दुरूपयोग को रोकने हेतु सोमवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी शम्भु कुमार व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डाॅ. विपिन कुमार मिश्र ने जनपद के मदिरा एवं बीयर व्यवसायियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने मदिरा एव बीयर व्यवसायियों को निर्देश दिया कि सेल्समैन द्वारा किसी व्यक्ति को मानक से अधिक मात्रा में मदिरा की बिक्री न की जाय। सेल्समैन/विक्रेता शराब दुकान पर प्रत्येक दिन प्रयुक्त मदिरा के पौव्वों को नष्ट कर दें। सभी व्यवसायियों को यह भी निर्देश दिया गया कि नवीन सत्र प्रारंभ होने से पूर्व 31 मार्च तक ही अनुज्ञापी/विक्रेता अपना चरित्र प्रमाण-पत्र सम्बन्धित कार्यालय में अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करें।

डीएम व एसएसपी ने निर्देश दिया कि सभी अनुज्ञापी एवं सेल्समैन दुकान के आस-पास शराब की अवैध गतिविधयों पर सतर्क दृष्टि रखें एवं अवैध मदिरा के कारोबार में संलिप्त लोगों की सूचना संबंधित विभाग को तत्काल दें। कानून व्यवस्था के दृष्टिगत देशी शराब दुकान की कैंटीनों में सीसीटीवी कैमरा लगाने का प्रबन्ध भी करें। सभी व्यवसायियों को निर्देश दिया गया कि दुकानों पर स्टाॅक रजिस्टर आदि अन्य अभिलेख अवश्य रखा जाये, जिससे दुकानों पर स्टाॅक का मिलान किया जा सके। यह भी निर्देश दिया कि दुकान पर अनुज्ञापी द्वारा ऐसे सेल्समैनों की नियुक्ति की जाय, जो उनके सम्बन्ध में पूर्णतया जानते हों तथा विभाग द्वारा अधिकृत किये गये हों। यदि किसी कारणवश विक्रेता को हटाना हो तो विक्रेता के स्थान पर संज्ञेय नये विक्रेता का चरित्र प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करते हुए विभाग को सूचित करें।
सभी व्यवसायियों को निर्देश दिया गया कि अनुज्ञापन परिसर में ही अनुमोदित मदिरा का ही भण्डारण किया जाय। बंदी के दिनों में किसी भी दुकान से या आस-पास से मदिरा/भांग की विक्री की न की जाय। दुकान के आस-पास अवैध शराब की बिक्री की सैल्समैन स्तर से दुकान की सुरागरसी की जाय एवं बिक्री की सूचना मिलने पर संबंधित विभाग को अविलम्ब सूचित किया जाय। 
बैठक के दौरान अवैध नशीले पदार्थों के निर्माण, बिक्री एवं संचरण पर प्रभावी अंकुश के लिए जिम्मेदार विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि मादक पदार्थों की तस्करी के तरीकों के सम्बन्ध में अभिूसचनाओं का आदान-प्रदान करें। जिले में विभिन्न डीलएइए के मध्य समन्वय स्थापित करने का भी निर्देश दिया गया। सभी व्यवसायियों को निर्देशित किया गया कि उक्त आदेशों का कड़ाई के साथ अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। बैठक में राजस्व, पुलिस, एस.एस.बी., वन तथा अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी तथा मदिरा एव ंबीयर व्यवसायी मौजूद रहे।