उन्नाव दोहरे हत्याकांड में विवेचना पर महत्वपूर्ण प्रश्न

लखनऊ। आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने थाना असोहा, उन्नाव में दोहरी हत्याकांड मु०अ०स० 29/2021 धारा 302/2021 आईपीसी की विवेचना के सम्बन्ध में कतिपय महत्वपूर्ण तथ्य प्रेषित करते हुए उन बिन्दुओं पर भी विवेचना किये जाने की मांग की है। डीजीपी यूपी को भेजी अपनी शिकायत में अमिताभ ने कहा कि दोहरी हत्याकांड में पुलिस ने अभियुक्त के हवाले से बताया कि उसने घर में इस्तेमाल होने वाला कीटनाशक को पानी की बोतल में मिला दिया था और जब तीनों लड़कियों ने पानी माँगा तो उन्हें पानी का बोतल दे दिया, जिससे उन्होंने पानी पी लिया और उक्त घटना घटित हो गयी. बाद में एसएसपी उन्नाव ने भी बताया कि बची हुई लड़की ने भी वही बात बताई. उन्होंने बताया कि फॉरेंसिक परिक्षण में कीटनाशक सल्फो-सल्फुरान पाया गया. यह भी कहा गया कि  इस कीटनाशक को पानी में मिलाने पर पानी का न रंग बदलता है न गंध आती है। इसके विपरीत अमिताभ ने मुजफ्फरनगर के किसान विनय त्यागी द्वारा भेजे गए दो विडियो प्रस्तुत किये जिसमे सल्फो-सल्फुरान को पानी में मिलाने पर उसका रंग दुधिया या मटमैला हो जाता है और जरा सा भी हिलाने से इसमें भारी मात्र में झाग बन जाता है। अमिताभ ने कहा कि जिस प्रकार से इस कीटनाशक को पानी में मिलाने से पानी का रंग बदलता है, उससे इस पानी को अपनी मर्जी से पीने की सम्भावना पर एक स्वाभाविक प्रश्नचिन्ह लगता है. अतः उन्होंने डीजीपी से इस मामले की विवेचना में इस बिंदु को भी समाहित कर इसके सम्बन्ध में गहराई से विवेचना करने के निर्देश देने की मांग की है।