अधिकारी परिवार के गढ़ में बोले पीएम मोदी- पूरे बंगाल में यही गूंज रहा,"2 मई, दीदी गई.."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनावों के लिए आज पूर्वी मिदनापुर के कांथी में चुनावी सभा को संबोधित किया. रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा,  "बंगाल के लोगों का विकास बीजेपी का संकल्प है. बंगाल के विकास के लिए हम जी जान से जुट जाएंगे ये वादा करने मैं आया हूं. बंगाल के उज्ज्वल भविष्य का वादा करता हूं." यह इलाका अधिकारी परिवार (शुभेंदु अधिकारी का परिवार) का गढ़ माना जाता है. साल 2009 से कांथी लोकसभा सीट से टीएमसी के सांसद रहे शिशिर अधिकारी (शुभेंदु अधिकारी के पिता) पिछले रविवार को बीजेपी में शामिल हो गए थे.

PM मोदी ने कहा, "टीएमसी के पाप का घड़ा भर चुका है. बंगाल को बीजेपी सरकार चाहिए. पश्चिम बंगाल में टीएमसी का खेला खत्म हुआ और अब विकास शुरू होगा.  लाभार्थियों को सीधे खाते में पैसा मिलेगा. कोई बिचौलिया नहीं, कोई तौलेबाज नहीं." उन्होंने इस मौके पर नारे भी लगाए और कहा कि पूरे बंगाल में यही गूंज रहा,"2 मई, दीदी गई.."

राज्य की मुख्यमंत्री पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, "जब जरूरत होती है तो तब दीदी दिखती नहीं, जब चुनाव आता है तो कहती हैं- सरकार दुआरे-दुआरे! यही इनका खैला है.. पश्चिम बंगाल, यहां का बच्चा-बच्चा, ये खैला समझ गया है.." PM ने कहा, "दीदी, आज पश्चिम बंगाल पूछ रहा है, कि अम्फान की राहत किसने लूटी? गरीब का चावल का किसने लूटा? अम्फान के सताए लोग, आज भी टूटी हुई छत के नीचे जीने को मजबूर क्यों हैं?"

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में एक-एक कर ममता बनर्जी पर राजनीतिक तीर चलाए और उनकी कमजोरियों पर निशाना साधा. पीएम ने कहा, "दीदी आजकल मेदिनीपुर में आकर बार-बार बहाने बना रही हैं.. दीदी उन बहनों, उन परिवारों को जवाब नहीं दे पाईं जिनको पहले अम्फान ने तबाह किया और फिर तृणमूल के टोलाबाज़ों ने लूट लिया..यहां केंद्र सरकार ने जो राहत भेजी थी, वो 'भाइपो विंडो' में फंस गई.."